असहनीय किन्तु सत्य: 2020; करें यादें साझा, जो छू ले सबका दिल

इंदौर। 2019 में चीन से फैले कोरोना वायरस ने 2020 के आते आते पूरी दुनिया में अपने पैर पसारकर रौब जमा लिया। इस वजह से साल 2020 एक या दो देश नहीं, बल्कि पूरी दुनिया के लिए असहज रहा है, जिसने हमें अच्छे और बुरे कई अनुभव और यादें दी हैं। ट्रूपल डॉट कॉम आपके लिए लेकर आ रहा है कैंपेन #yaadein2020 (यादें 2020), जो 29 नवंबर से प्लेटफॉर्म पर होगा।
चैनल के को-फाउंडर अतुल मलिकराम बताते हैं कि काम काज में व्यस्तता के चलते, साथ ही कमाने की होड़ में भाग रहे लोगों की जिंदगी में अपने और अपनों के लिए समय जैसे खत्म ही हो गया था। लॉकडाउन ने हमें यह बताया कि सिर्फ पैसा ही जिंदगी में सब कुछ नहीं है, हमारे अपने भी हैं, जिनके साथ हमने सालों बाद एक लम्बा समय गुजारा। कितने ही लोग अपने घर से, अपने देश से दूर थे, और महीनों के लिए मौजूदा जगह पर किसी पंछी के से कैद होकर रह गए। न वर्तमान की स्थिति का पता, न ही भविष्य में होने वाली घटनाओं का अंदाजा, सहमे से एकांत में कई दिन और फिर अच्छे समय का इन्तजार करते करते महीनों गुमसुम से गुजर गए। कैसे गुजरे? यह बताने वाले कई लोग भी नहीं हैं अब इस दुनिया में।
पूरी दुनिया को हिला देने वाले साल 2020 ने हमें अच्छे बुरे अनगिनत अनुभव दिए हैं। महामारी का यह समय किसी के जीवन में खुशियां लेकर आया, तो किसी की जिंदगी को असहज कर दिया। किसी ने अपने पूरे परिवार को खो दिया। किसी को अपनों का चेहरा भी नसीब नहीं हुआ। किसी की नौकरी चली गई, तो किसी ने घर में रहकर काम करना सीखा। #yaadein2020 के माध्यम से आप अपने अनुभव या दर्द साझा कर सकते हैं। तो देर किस बात की, प्लेटफॉर्म के माध्यम से अपने अनुभव और सीख जरूर बयाँ करें। #yaadein2020 कैंपेन PR24x7 प्रायोजित किया जा रहा है।
चैनल के बारे में
ट्रूपल डॉट कॉम देश का तेजी से उभरता ऑनलाइन न्यूज कम व्यूज प्लेटफॉर्म है, जो जनता तथा प्रशासन को जागरूक करने के लिए प्रतिबद्ध है। चैनल अपने दर्शकों के समक्ष खबरों के पीछे की सत्यता और सटीकता को तथ्यों के साथ उपलब्ध करने के लिए कार्यरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *