बालवीर रिटर्न्स : क्या विवान भूत के रूप में उसके आसपास मौजूद देबू के बारे में पता लगा पाएगा?

 


रायपुर/ मुंबईबालवीर रिटर्न्स अपने दर्शकों को मोहित करने के लिए बिलकुल तैयार है क्योंकि आगामी एपिसोड्स में दिलचस्प मोड़ सामने आने वाले है। देबू(देव जोशी) की आत्मा की उपस्थिति न सिर्फ रे बल्कि विवान (वंश सयानी) को भी महसूस होगी। सोनी सब के पसंदीदा काल्पनिक शो, बालवीर रिटर्न्स के आगामी एपिसोड्स दर्शकों को एक रोमांचक सफर पर ले जाने के लिए बिलकुल तैयार हैं क्योंकि विवान को आखिरकार उस रहस्यमयी ऊर्जा का एहसास होता है जोकि उसकी इस दुनिया को बचाने में मदद करती है।
बालवीर उर्फ़ देबू अपने साथी विवान की आत्मा के रूप में लगातार रक्षा कर रहा है। हालांकि देबू को कोई भी नहीं देख सकता लेकिन हाल ही में विवान ने उसके आसपास किसी की अज्ञात उपस्थिति को महसूस किया, जो हर मुश्किल पलों में उसकी मदद करता है और उसका मार्गदर्शन करता है। जो एनर्जी उसकी मदद कर रही है उसके बारे में जानने के लिए उत्साहित, विवान उस उपकरण को ढूंढ़ने के मिशन की तरफ बढ़ रहा है। यह उसे उस अज्ञात रक्षक को देखने में उसकी मदद करेगा जिसका समाधान ढूंढने के लिए वह वीरलोक तक पहुंच जाता है। वहीं दूसरी तरफ, रे(शोएब अली) ने एक जादुई चश्मे की मदद से, पहले से ही देबू को उसकी आत्मा के रूप में देख लिया है लेकिन उसके चश्मे का जोड़ा भारत नगर में खो गया है।
क्या विवान देबू के बारे में पता लगा पाएगा? क्या रे देबू के बारे में पता लगाने से विवान को दूर रखने की कोशिश करेगा?
विवान की भूमिका निभा रहे वंश सयानी ने कहा, “विवान के लिए चुनौतियां लगातार बढ़ रही हैं। इन एपिसोड्स के लिए शूटिंग करने का अनुभव पूरी तरह से नया है क्योंकि हम सभी बालवीर या देबू की मौजूदगी को अपने आसपास महसूस कर सकते थे। अब शूटिंग के वक्तढ हालांकि देव भैया मेरे पीछे होते हैं, पर मुझे ऐसा दर्शाना होता है कि वो मेरे आसपास नहीं है। इस नए तरह से शूटिंग करना बहुत मज़ेदार है। कभी-कभी यह चुनौतीपूर्ण होता है क्योंकि आप अपने पास में खड़े हुए व्यक्ति को कैसे अनदेखा करेंगे। आगे के एपिसोड्स रोमांचक मोड़ लेने के लिए तैयार हैं क्योंकि विवान को अंततः उस अज्ञात ऊर्जा की मौजूदगी का एहसास हो गया है। तो यह जानने के लिए हमारे साथ बने रहें कि विवान अपने अदृश्य मददगार के बारे में कैसे पता लगाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *